ITI COPA

Introduction to Database Management System

Introduction to Database Management System | MS Access

Indtroduction to Database Management System
डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम का परिचय

what is DBMS in Hindi?

डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) हिंदी नोट्स डाटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम क्या है? डेटाबेस मैनेजमेंट की विशेषताएँ, डेटाबेस का उपयोग एवं वर्तमान में प्रयोग किए जा रह डेटाबेस सॉफ्टवेयर की जानकारी में सहायक होंगे। कंप्यूटर हिंदी नोट्स विभिन्न कंप्यूटर कोर्स जैसे DCA, BCA, PGDCA, ITI-COPA के छात्रों एवं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए बहुत उपयोगी हैं।


डेटा क्या है? || What is Data?


'डेटा' (Data) शब्द की उत्पत्ति 'डेटम' (Datum) शब्द से हुई है जिसका अर्थ है 'सूचना का एक टुकड़ा'। यह डेटम शब्द का बहुवचन है।

What is Data?

डेटा (Data) सूचना (Information) की एक विशिष्ट छोटी इकाई है। इसका उपयोग टेक्स्ट, नंबर, इमेज, ऑडियो, वीडियो आदि जैसे विभिन्न रूपों में किया जा सकता है। डेटा (Data) रॉ (Raw) फैक्ट एवं फिगर होते हैं जिससे इनफार्मेशन / सूचना प्राप्त करने के लिए प्रोसेस करने की आवश्यकता होती है।

कंप्यूटर डेटा कंप्यूटर द्वारा प्रोसेस अथवा कंप्यूटर में स्टोर जानकारी है। यह जानकारी टेक्स्ट डॉक्यूमेंट, इमेज, ऑडियो क्लिप, सॉफ्टवेयर प्रोग्राम या अन्य प्रकार के डेटा के रूप में हो सकती है।

डेटाबेस के संदर्भ में डेटा उन सभी वस्तुओं को संदर्भित करता है जो डेटाबेस में संग्रहीत (Store) हैं। डेटाबेस में डेटा मुख्य रूप से डेटाबेस टेबल में संग्रहीत (Store) किया जाता है।

डेटाबेस क्या है? || What is a Database?


डेटाबेस संबंधित डेटा का एक संग्रह है जो एक निश्चित कार्य के लिए डेटा को विभिन्न प्रकार से उपयोग करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। डेटाबेस डेटा का संग्रह है जिसे आसानी से एक्सेस और मैनेज किया जा सकता है। डेटाबेस में डेटा को टेबल, रो एवं कॉलम में व्यवस्थित किया जाता है जिससे आवश्यक जानकारी ढूंढना आसान हो सके।

डेटाबेस का मुख्य उद्देश्य डेटा को संग्रहीत (Store) , पुनर्प्राप्त (Retrive) और प्रबंधित (Manage) करके बड़ी मात्रा में जानकारी प्राप्त करना है। दूसरे शब्दों में हम कह सकते हैं कि डेटाबेस (Database) मुख्य रूप से डेटा का एक संगठित संग्रह (Oraganized Collection) है, जिसे आमतौर पर कंप्यूटर सिस्टम में इलेक्ट्रॉनिक रूप से संग्रहीत (Store) किया जाता है। एक डेटाबेस को आमतौर पर एक डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) द्वारा नियंत्रित किया जाता है।

डेटाबेस (Database) में डेटा को आसानी से एक्सेस, मैनेज, मॉडिफाई, अपडेट, एवं कण्ट्रोल किया जा सकता है। अधिकांश डेटाबेस डेटा लिखने और क्वेरी करने के लिए स्ट्रक्चर क्वेरी लैंग्वेज (एसक्यूएल) का उपयोग करते हैं।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम क्या है? || What is Data Base Management System?


 What is Data Base Management System?

किसी भी डेटाबेस का मैनेजमेंट, डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) द्वारा किया जाता है। डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) सॉफ्टवेयर मुख्य रूप से उपयोगकर्ता और डेटाबेस के बीच एक इंटरफ़ेस के रूप में कार्य करता है। DBMS उपयोगकर्ताओं को उनकी आवश्यकता के अनुसार अपना डेटाबेस बनाने की अनुमति देता है, साथ ही डेटा, डेटाबेस इंजन और डेटाबेस स्कीमा का प्रबंधन (Management) करता है।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में डेटाबेस के उपयोगकर्ता और अन्य एप्लिकेशन प्रोग्राम शामिल हैं। यह डेटा और सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन के बीच एक इंटरफेस प्रदान करता है। डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) उपयोगकर्ताओं को डेटा को स्टोर करने एवं पुनर्प्राप्त करने के साथ साथ डेटा को एक्सेस, मैनेज, मॉडिफाई, अपडेट, एवं कण्ट्रोल करने की सुविधा देता है।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के रूप में प्रमुख रूप से MySQL, Microsoft Access, SQL Server, Oracle, dBASE, और FoxPro शामिल हैं। वर्तमान में बहुत सारे डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) उपलब्ध हैं इसलिए उनके लिए एक दूसरे के साथ कनेक्टिविटी के लिए अधिकांश डेटाबेस सॉफ़्टवेयर एक ओपन डेटाबेस कनेक्टिविटी (ODBC) ड्राइवर का प्रयोग करते हैं, जो एक डेटाबेस को अन्य डेटाबेस के साथ उपयोग करने की सुविधा प्रदान करता है।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) की विशेषताएँ || Characteristics of Database Management System


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) की प्रमुख विशेषताएँ निम्नानुसार हैं:

डेटा रिडनड़ेंसी को कण्ट्रोल करना | Control Data Redundancy


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में डेटा की डुप्लीकेट एन्ट्री एक बड़ी समस्या पैदा कर सकती है। डेटाबेस में में एक स्थान पर एक ही तरह की फाइल्स को रखा जाता है जिससे डाटा की Redundancy को कण्ट्रोल करके डेटाबेस में डुप्लीकेट एन्ट्री को रोका जाता है।

डेटा शेयरिंग | Data Sharing


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में डेटा शेयरिंग केवल अधिकृत यूजर (Authorized User) के द्वारा की जाती है जिसे डाटा एडमिनिस्ट्रेटर नियंत्रित करता है और डाटा को एक्सेस करने के लिए यूजर / उपयोगकर्ता को अधिकार देता है।

डेटा कंसिस्टेंसी | Data Consistency


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में डेटा कंसिस्टेंसी के द्वारा डेटाबेस में एक ही प्रकार के डाटा को बार-बार जमा होने से रोका जा सकता है।

डेटा इंटीग्रेशन | Data Integration


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में डेटा टेबल के रूप में होता है और एक डेटाबेस में एक से अधिक टेबल होती है। इन सभी टेबल्स के बीच में रिलेशन बना कर डाटा को प्राप्त करना और अपडेट करना आसान हो जाता है।

डेटा सिक्यूरिटी | Data Security


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में डेटा को पूरी तरह से डेटा एडमिनिस्ट्रेटर के द्वारा कण्ट्रोल किया जाता है। इसमें एडमिनिस्ट्रेटर ही यह सुनिश्चित करता है कि यूजर को डेटाबेस के किस पार्ट पर एक्सेस देना है। इससे डेटाबेस की सिक्योरिटी बढ़ जाती है। डेटाबेस सिस्टम के सभी उपयोगकर्ताओं के पास अलग अलग डाटा एक्सेसिंग के अधिकार दिए जा सकते हैं।

डेटा रिकवरी | Data Recovery


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में डेटा बैकअप और डेटा रिकवरी के द्वारा डेटा को रिकवर किया जा सकता है। डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम में डेटा का बैकअप लेने और रिकवरी करने की सुविधा प्रदान करता है।

ACID प्रोपर्टी | ACID Properties


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) ACID प्रोपर्टी के अंतर्गत डेटा एक्यूरेसी, डेटा कम्पलीटनेस, डेटा आइसोलेशन एवं डेटा ड्यूरेबिलिटी को पूरा करता है। ACID (Accuracy, Completeness, Isolation, and Durability) प्रोपर्टी में प्रत्येक डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) में यह सुनिश्चित किया जाता है कि डिलीट, इंसर्ट और अपडेट जैसे ट्रांजेक्शन करते समय डेटा का वास्तविक उद्देश्य ख़त्म नहीं होना चाहिए।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के प्रकार || Types of Database Management System


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के मुख्य रूप से चार प्रकार हैं:
• हायरार्किकल डेटाबेस Hierarchical Database
• नेटवर्क डेटाबेस Network Database
• रिलेशनल डेटाबेस Relational Database
• ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड डेटाबेस Object-Oriented Database

Types of Database

हायरार्किकल डेटाबेस | Hierarchical Database


हायरार्किकल (Hierarchical) डेटाबेस मॉडल में डेटा को ट्री स्ट्रक्चर में व्यवस्थित किया जाता है। डेटा को टॉप टू बॉटम (ऊपर से नीचे) अथवा बॉटम टू टॉप (नीचे से ऊपर) फॉर्मेट में स्टोर किया जाता है। माता-पिता एवं बच्चे (Parents-Child) के संबंध का उपयोग करके डेटा का प्रतिनिधित्व किया जाता है। इस प्रकार के डेटाबेस में माता-पिता के कई बच्चे हो सकते हैं, लेकिन बच्चों के माता-पिता केवल एक ही होते हैं।

नेटवर्क डेटाबेस | Network Database


नेटवर्क (Network) डेटाबेस मॉडल प्रत्येक प्रत्येक रिकॉर्ड को कई पेरेंट्स और कई चाइल्ड रिकॉर्ड रखने की अनुमति देता है, जो कि नेटवर्क रिकॉर्ड की एक वेब जैसी संरचना बनाती है। नेटवर्क मॉडल अधिक जटिल संबंधों को मॉडल करने की आवश्यकता को पूरा करने में मदद करता है। नेटवर्क (Network) डेटाबेस मॉडल Many-to- Many रिलेशनशिप को पूर्ण करता हैं।

रिलेशनल डेटाबेस | Relational Database


रिलेशनल (Relational) डेटाबेस मॉडल सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला डेटाबेस मॉडल है क्योंकि यह सबसे आसान में से एक है। यह मॉडल टेबल की रो और कॉलम में डेटा को सामान्य करने पर आधारित है। रिलेशनल डेटाबेस मॉडल एक प्रकार का डेटाबेस है जो लॉजिकल कनेक्टेड टेबल में जानकारी संग्रहीत करता है। डेटाबेस में प्रत्येक टेबल में एक ही विषय से संबंधित जानकारी होती है।
रिलेशनल (Relational) डेटाबेस की अवधारणा (Concept) मूल रूप से 1970 में डॉ एडगर एफ कोड (E.F.Codd) द्वारा बनाई गई थी।

ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड डेटाबेस | Object-Oriented Database


ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड (Object-Oriented) डेटाबेस मॉडल में डेटा को ऑब्जेक्ट के रूप में स्टोर किया जाता है। वह संरचना जिसे वर्ग कहा जाता है जो इसके भीतर डेटा प्रदर्शित करती है। ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड (Object-Oriented) डेटाबेस मॉडल में एक एंटिटी को एक ऑब्जेक्ट के रूप में दर्शाया जाता है और ऑब्जेक्ट को मेमोरी में स्टोर किया जाता है।
ऑब्जेक्ट में फ़ील्ड, प्रॉपर्टी और मेथड जैसे मेम्बर होते हैं। यह डेटाबेस को वस्तुओं के संग्रह के रूप में परिभाषित करता है जो डेटा सदस्यों के मूल्यों और संचालन दोनों को संग्रहीत करता है। ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड डेटाबेस मॉडल में ऑब्जेक्ट-ओरिएंटेड प्रोग्रामिंग के गुण जैसे एन्केप्सूलेशन, इन्हेरिटेंस, पोलीमोर्फिज्म जैसे गुण होते हैं।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के उपयोगकर्ता || Users of Database Management System


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के उपयोगकर्ताओं में मुख्य रूप से डेटाबेस के विभिन्न लेवल पर कार्य करने वाले उपयोगकर्ता होते हैं। डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के उपयोगकर्ताओं की विभिन्न श्रेणियां निम्न हैं:

Users of Database

अंतिम उपयोगकर्ता (Enduser)


अंतिम उपयोगकर्ता (Enduser) वे लोग होते हैं जो डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) को एक्सेस करके इनफार्मेशन प्राप्त करते हैं। उदाहरण के लिए, रेलवे के टिकट बुकिंग उपयोगकर्ता, बैंक / ऑफिस में क्लर्क, आदि डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) का उपयोग करके दिए गए कार्य को पूरा करते हैं। डेटाबेस की सामान्य जानकारियों को समय समय पर अपडेट का कार्य भी इनके द्वारा किया जाता है।

एप्लिकेशन प्रोग्रामर (Application Programmer)


एप्लिकेशन प्रोग्रामर बैक एंड प्रोग्रामर हैं जो डेटाबेस का उपयोग करने के लिए एप्लिकेशन प्रोग्राम तैयार करते हैं। ये प्रोग्राम प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे विजुअल बेसिक, डेवलपर, सी, फोरट्रान, कोबोल आदि में तैयार किए जा सकते हैं।

डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर (Database Administrator)


डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर पूरे डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के मैनेजमेंट के लिए जिम्मेदार होता है, यह एक व्यक्ति अथवा टीम हो सकती है। इसे डेटाबेस एडमिन या डीबीए (DBA) कहा जाता है।
डेटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर (DBA) एक व्यक्ति / टीम है जो डेटाबेस स्कीमा को परिभाषित करता है और डेटाबेस के 3 स्तरों को भी नियंत्रित करता है।
डीबीए डेटा बेस को सुरक्षा प्रदान करने के लिए भी जिम्मेदार है और वह केवल अधिकृत उपयोगकर्ताओं को डेटा बेस तक पहुंचने / संशोधित करने की अनुमति देता है।
डीबीए रिकवरी और बैक अप की निगरानी भी करता है और तकनीकी सहायता प्रदान करता है।

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) सॉफ्टवेयर || Database Management System Software


वर्तमान में कई सारे डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) सॉफ्टवेयर प्रयोग में लाए जा रहे हैं, कुछ लोकप्रिय डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) हैं :

Database Management System Software in Use

• माई एसक्यूएल (MySQL)
• माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस (Microsoft Access)
• ओरेकल (Oracle )
• पोस्टग्रे एसक्यूएल (PostgreSQL)
• डीबेस (dBASE)
• फॉक्सप्रो (Foxpro)
• एसक्यू लाइट (SQLite)
• आईबीएम डीबी2 (IBM-DB2)
• लिब्रे ऑफिस बेस (LibreOffice Base)
• माइक्रोसॉफ्ट एसक्यूएल सर्वर (Microsoft SQL Server)

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के अनुप्रयोग || Applications of Database Management System


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के विकास के कारण आज लगभग हर क्षेत्र में डेटाबेस का उपयोग बढता जा रहा है। डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) से उस हर चीज का रिकॉर्ड रखा जा सकता है जो किसी व्यक्ति या संगठन के लिए महत्वपूर्ण होती हैं।
डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) किसी भी व्यक्ति या उत्पाद के बारे में जानकारी और सम्बन्धित रिकॉर्ड तेजी से खोजने में सहयोग करता है जो उन्हें काम में अधिक प्रभावी बनाता है।

Applications of DBMS

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के सामान्य उपयोग निम्न हैं:

आरक्षण प्रणालियाँ (Reservation Systems)


विभिन्न आरक्षण प्रणालियाँ चाहे वह एयर टिकट, रेलवे टिकट या बस टिकट बुकिंग सिस्टम हो सभी में यात्रा करने के लिए टिकट बुकिंग के लिए डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) का प्रयोग किया जाता है। यात्रा का स्थान, खाली सीट की जानकारी, एयरवेज / ट्रेन / बस की उपलब्धता डेटाबेस के प्रयोग से आज एक ही क्लिक में प्राप्त की जा सकती है।
ऑनलाइन टिकट बुकिंग सिस्टम में डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) का प्रयोग यूजर को तेजी से टिकट बुक करने में सहायता करता है।

बैंकिंग एवं फाइनेंस (Banking & Finance)


पूरी दुनिया में रोजाना बैंकों के माध्यम से करोड़ों-अरबों लेन-देन किए जाते हैं, आज यह कार्य बिना बैंक जाए भी हो जाता है। बैंकिंग इतनी आसान हो गई है कि घर बैठे ही बैंकों के माध्यम से पैसा भेज या प्राप्त कर सकते हैं। यह सब सिर्फ डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के प्रयोग के कारण ही संभव हो सका है जो सभी बैंक लेनदेन का प्रबंधन करता है। बैंक ग्राहक की जानकारी, उसकी गतिविधियों जैसे भुगतान, जमा, ऋण आदि के लिए डेटाबेस का उपयोग करता है।
फाइनेंस के क्षेत्र जैसे वित्त, स्टॉक, म्यूच्यूअल फंड्स और बॉन्ड जैसे वित्तीय साधनों के स्टॉक, बिक्री और खरीद के बारे में जानकारी एवं लेनदेन के लिए डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के प्रयोग किया जा रहा है।

मानव संसाधन प्रबंधन (Human Resource Management)


शासकीय एवं प्राइवेट सेक्टर में कई कर्मचारी काम करते हैं। डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के प्रयोग से इन सभी कर्मचारियों का प्रबंधन, मानव संसाधन प्रबंधन विभाग द्वारा डेटाबेस के प्रयोग से किया जाता है। डीबीएमएस के माध्यम से प्रत्येक कर्मचारी के वेतन, टैक्स, कार्य, पदोन्नति आदि का रिकॉर्ड रखा जाता है।

पुस्तकालय प्रबंधन प्रणाली (Library Management System)


किसी भी पुस्तकालय में हजारों-लाखों किताबें, पत्र-पत्रिकाएँ आदि होती हैं इसलिए सभी पुस्तकों का रिकॉर्ड एक कॉपी या रजिस्टर में रखना बहुत मुश्किल है। इसलिए डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) का प्रयोग कर पुस्तक का नाम, लेखक और पुस्तक की उपलब्धता,पुस्तक जारी करने की तारीख, एवं अन्य संबंधित सभी सूचनाओं को डेटाबेस की सहायता से रखा जाता है। किसी भी जानकारी अथवा रिकॉर्डे को आसानी से प्राप्त भी किया जा सकता है।

दूरसंचार (Tele Communication)


कोई भी टेलीकम्युनिकेशन कंपनी बिना डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के अपने बिजनेस के बारे में सोच भी नहीं सकती। इन कंपनियों के लिए ग्राहक की जानकारी, कॉल विवरण और प्रीपेड एवं पोस्टपेड बिलों की जानकारी के लिए डीबीएमएस आवश्यक है।

व्यापार (Business)


व्यापार में ग्राहक की जानकारी, उत्पादन जानकारी और बिल का विवरण आदि कार्यो के लिए डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) का प्रयोग सुविधाजनक है। इसके साथ ही स्टॉक एवं इन्वेंट्री, टैक्स, उधार लेन देन आदि के लिए डेटाबेस की उपयोगिता सर्वमान्य है।

निर्माण उद्योग (Manufacturing Sector)


मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में किसी भी निर्माण इकाई, गोदाम या वितरण केंद्र के प्रत्येक आइटम के रिकॉर्ड की जानकारी के डेटाबेस की आवश्यकता होती है। निर्माण की जाने वाली सामग्री, वितरण द्वारा आपूर्ति की जाने वाली सामग्री, सेल्स आदि के लिए डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) का प्रयोग अति आवश्यक होता है।

सोशल नेटवर्क वेबसाइट (Social Network Website)


हम सभी अपने विचार साझा करने और अपने दोस्तों से जुड़ने के लिए सोशल मीडिया वेबसाइट का प्रयोग करते हैं। फेसबुक, ट्विटर, Pinterest जैसे कई सोशल मीडिया अकाउंट्स के लिए रोजाना लाखों यूजर्स साइन अप करते हैं। लेकिन यूजर्स की सारी जानकारी कैसे स्टोर की जाती है और यूजर एक-दूसरे से कैसे जुड़ पाते हैं, यह सब डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) के कारण संभव होता है।

ई कॉमर्स / ऑनलाइन खरीदारी (E-Commerce / Online Shopping)


ई कॉमर्स / ऑनलाइन शॉपिंग का प्रयोग कर हर कोई सुविधाजनक रूप से घर से ही खरीदारी कर सकता है। ऑनलाइन शॉपिंग साईट द्वारा इन सभी उत्पादों को डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) की मदद से ही वेबसाइट पर डिस्प्ले किया जाता है एवं बेचा जाता है। खरीदारी की जानकारी, बिल और भुगतान, ये सभी DBMS की मदद से किए जाते हैं।

शिक्षा क्षेत्र (Education Sector)


वर्तमान में स्कूलों, कॉलेजों, विश्विद्यालयों आदि में प्रवेश, परीक्षा, मूल्यांकन आदि के लिए डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS) का प्रयोग किया जा रहा है। डेटाबेस के प्रयोग से छात्रों के प्रवेश रिकॉर्ड, उनकी परीक्षा एवं मूल्यांकन आदि कार्यों को सुविधाजनक रूप से शीघ्रतापूर्वक किया जाता है।

Back to Contents





डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम / एम एस एक्सेस प्रैक्टिकल
MS-Access Practicals

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम / एम एस एक्सेस प्रैक्टिकल के अंतर्गत एम एस एक्सेस के प्रैक्टिकल माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस में टेबल, फॉर्म, क्वेरी, रिपोर्ट, डेटाबेस में डाटा को इम्पोर्ट / एक्सपोर्ट करना आदि के प्रेक्टिकल उपलब्ध कराए जा रहे हैं।


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम / एम एस एक्सेस ऑनलाइन टेस्ट सीरीज
Online Test MS-Access

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम (DBMS/MS-Access) ऑनलाइन टेस्ट सीरीज आपकी सुविधा के लिए पूरी तरह से मुफ्त है। कोपा-गाइड सभी कंप्यूटर विषयों कंप्यूटर फंडामेंटल, ऑपरेटिंग सिस्टम, एमएस-ऑफिस, डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम, इंटरनेट और एचटीएमएल, जावा स्क्रिप्ट, प्रोग्रामिंग विथ वीबीए, अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर, टैली, इंटरनेट और ई कॉमर्स के ऑनलाइन टेस्ट सीरीज उपलब्ध कराता है।


डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम / एम एस एक्सेस वीडियो ट्यूटोरियल्स
Video Tutorials MS-Access

डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम / माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस के वीडियो ट्युटोरियल्स की सहायता से आप डेटाबेस मैनेजमेंट सिस्टम / माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस को हिंदी भाषा में आसानी से समझ सकते हैं. यह हिंदी वीडियो ट्युटोरियल्स सभी के लिए नि:शुल्क हैं.




Tags : What is DBMS? Database Management System. How to Use MS Access? Introduction to DBMS-MS Access. Microsoft Access Hindi Tutorials. Creating database in MS-Access. How to create table in MS-Access? Database Records, Fields, Table. How to create forms in MS-Access? Creating Queries in MS-Access? Form Design Controls. Microsoft Access Hindi Notes Books, PDF Download. Free Online Database Notes in Hindi. DBMS Database Management System / MS Access in Hindi. Learn Basic to Advance DBMS-MS Access Free Online Tutorials in Hindi and also test your preparation for online computer exam. In this tutorial series we provide notes, books, pdf for DBMS Database Management System / MS Access in Hindi. DBMS Free Online Mock Test Series Online Database Test - Online Tests for Interview, Competitive Exams. Creating database and designing a simple tables in Access. Creating Relationships and joining tables. Creating Forms. Creating simple select queries with various criteria and calculations.Creating Simple update, append, make table, delete and crosstab queries on Reports.Creating Simple update, append, make table, delete and crosstab queries on Forms. Modifying form design with controls,Importing and exporting data to and from Access, Compressing and Encrypting databases Practical on Forms settings and button, textbox, label , check box, combo box properties. Relational Database Management System. Microsoft Access Practical Examples in Hindi Tutorials.  

COPA-Guide provides free online tutorials, notes, pdf books in Hindi for Computer FundamentalOperating System, MS-Office, Database Management System, Internet & HTMLJava ScriptVBAAccounting SoftwareTallyInternet and E commerce

 

||    Theory    ||    Practicals    ||    Video Tutorials    ||    Online Test Series   ||