ITI COPA

Windows OS - History and Timeline

Windows Operating System
what is Opearting system


विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम | Windows Operating System


ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) एक सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर को नियंत्रित (Control) करता है। यह हार्डवेयर का प्रबंधन (Manage) करता है, एप्लिकेशन सॉफ्टवेयर को चलाने में सहायता करता है, उपयोगकर्ताओं (Users) के लिए एक इंटरफ़ेस प्रदान करता है और फाइल्स एवं डाटा को स्टोर करता है, एवं आवश्यकता होने पर  पुनर्प्राप्त (Retrieve) करता है। सामान्य तौर पर, ऑपरेटिंग सिस्टम एप्लीकेशन और हार्डवेयर के बीच, उपयोगकर्ता (User) और हार्डवेयर के बीच और उपयोगकर्ता और एप्लीकेशन के बीच समन्वय का कार्य करता है।

विभिन्न उपयोगकर्ताओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए कंप्यूटर पर कई एप्लिकेशन इंस्टॉल किए जा सकते हैंलेकिन कंप्यूटर को वास्तव में केवल एक ऑपरेटिंग सिस्टम की आवश्यकता होती है। एक ऑपरेटिंग सिस्टम (OS) एक कंप्यूटर सिस्टम का सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो कंप्यूटर की गतिविधियों को कण्ट्रोल एवं मैनेज करता है। लगभग सभी कंप्यूटर किसी न किसी प्रकार के ऑपरेटिंग सिस्टम (OS)  का उपयोग करते हैं।

ऑपरेटिंग सिस्टम वह सिस्टम सॉफ्टवेयर है जो फ़ाइल मैनेजमेंट,मेमोरी प्रबंधनप्रोसेस मैनेजमेंटइनपुट आउटपुटडिस्क ड्राइव और प्रिंटर जैसे पेरिफेरल उपकरणों को नियंत्रित करने जैसे सभी बुनियादी कार्य करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम पर मुख्य रूप से दो प्रकार के यूजर इंटरफ़ेस उपयोग किए जाते हैं - कमांड लाइन इंटरफ़ेस (CLI) एवं ग्राफिकल यूज़र इंटरफेस (GUI)


विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम, ग्राफिकल यूज़र इंटरफेस (GUI) पर आधारित है अर्थात इसमें सभी कार्यों के लिए ग्राफ़िक्स जैसे आइकॉन, डेस्कटॉप आदि  का उपयोग किया जा सकता है और कमांड्स याद करने की आवश्यकता नहीं होती है। इसलिए यूज़र्स को इसमें काम करने में आसानी होती है और यही इसकी लोकप्रियता का कारण भी है। माइक्रोसॉफ्ट विंडोज, जिसे आमतौर पर विंडोज के रूप में जाना जाता है, माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विकसित किया गया लाइसेंस ऑपरेटिंग सिस्टम है। 

माइक्रोसॉफ्ट विंडोज का उद्देश्य: माइक्रोसॉफ्ट ने 1985 में एमएस-डॉस पर चलने वाले कंप्यूटरों के लिए ग्राफिकल इंटरफेस के रूप में विंडोज का पहला संस्करण जारी किया था। विंडोज ने प्रोग्राम चलाने और सिस्टम को मैनेज करने के लिए टेक्स्ट कमांड की आवश्यकता के स्थान पर सामान्य एवं आसानी से उपयोग करने वाले मेनू और बटन प्रदान करके कंप्यूटर का उपयोग करना आसान बना दिया।

पर्सनल कंप्यूटर (पीसी) के लिए माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन द्वारा विकसित विंडोज ओएस, ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (जीयूआई) की विशेषता के कारण जल्द ही प्रसिद्ध हो गया। आज लगभग 90 प्रतिशत पीसी, विंडोज पर ही चलाए जा रहे हैं।

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम की विशेषताएं

विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम की कुछ विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

यूजर इंटरफेस और डिवाइस सपोर्ट: 

विंडोज में ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (GUI) है और सिस्टम के इंटरैक्शन और रखरखाव के लिए कमांड लाइन इंटरफेस (CLI) भी है। इसमें फास्ट यूजर स्विचिंग और रिमोट हेल्प की  सुविधा भी है। यह पेरिफेरल उपकरणों के लिए नए और बेहतर डिवाइस ड्राइवर और यूजर इंटरफेस प्रदान करता है।

एक्सेसिबिलिटी और उपयोगिता: 

विंडोज में किसी भी प्रोग्राम को इसके विभिन्न संस्करणों में आसानी से उपयोग किया जा सकता है। विभिन्न एप्लीकेशन प्रोग्राम को विंडोज के किसी भी संस्करण पर आसानी से चलाया जा सकता है। 

पावर मैनेजमेंट: 

विंडोज में पावर मैनेजमेंट फीचर होता है। यह पॉवर के उपयोग को सुनिश्चित करता है एवं आवश्यकता अनुसार कंप्यूटर सिस्टम के विभिन्न पार्ट्स जैसे की हार्ड डिस्क, मॉनिटर आदि को स्लीप मोड में या पॉवर ऑफ मोड में परिवर्तित कर सकता है।

सर्च एवं फाइल आर्गेनाइजेशन : 

विंडोज के नए संस्करणों में बेहतर सर्च सुविधा उपलब्ध कराई गई है, जो किसी भी फाइल अथवा फोल्डर को आसानी से खोज सकता हैं। फाइल मैनेजमेंट के लिए लाइब्रेरी की अवधारणा भी शुरू की गई है, जो डाक्यूमेंट्स के विभिन्न प्रकारों को माय डाक्यूमेंट्स, माय पिक्चरमाय म्यूजिक, माय वीडियो आदि की सहायता से सुरक्षित रखने में उपयोगी होता है।

सेफ्टी एवं सिक्यूरिटी 

विंडोज की नई सेफ्टी विशेषताओं में पिन और पिक्चर पासवर्ड जैसे ऑथेंटिकेशन मेथड को शामिल किया गया है। साथ ही सिक्यूरिटी के विंडोज डिफेंडर जैसे एंटीवायरस क्षमताओं को जोड़ा गया है। बूट प्रोसेस को संक्रमित करने वाले मैलवेयर से बचाने के लिए UEFI सिस्टम पर सिक्योर बूट जैसी विशेषता भी प्रदाय की गई है। 

रिमोट डेस्कटॉप: 

उपयोगकर्ता, रिमोट डेस्कटॉप के माध्यम से कहीं भी मौजूद कंप्यूटर सिस्टम को उपयोग कर सकते हैं, एवं कंप्यूटर के विभिन्न रिसोर्स का उपयोग कर सकते हैं।


विंडोज का इतिहास - History of Windows

History of Windows

माइक्रोसॉफ्ट ने 1981 में ग्राफिकल यूजर इंटरफेस (जीयूआई) पर आधारित ऑपरेटिंग सिस्‍टम पर काम करना शुरू किया और 10 नवंबर, 1983 को विडोंज का पहला वर्शन 1.0, पब्लिक के लिये जारी कर दिया इसके बाद 1987 में विडोंज 2.0 और 1990 में विडोंज 3.0 को लांच किया गया इसके बाद विडोंज के कई वर्शन लांच किये  जैसे विडोंज 95, विडोंज 98, विडोंज NT, विंडोज 2000, विडोंज XP, विंडोज ME, विंडोज विस्टा, विंडोज 7, विंडोज 8, एवं विंडोज 10. वर्तमान में विंडोज 10 का उपयोग किया जा रहा है।   


विंडोज 1.0 (Windows 1.0)

विंडोज 1.0

विंडोज 1.0 को 20 नवंबर 1985 को माइक्रोसॉफ्ट विंडोज के पहले संस्करण के रूप में जारी किया गया था। यह एक मौजूदा MS-DOS इंस्टॉलेशन पर एक ग्राफिकल, 16-बिट मल्टी-टास्किंग शेल के रूप में चलता है। विंडो 1.0 ने उपयोगकर्ताओं को प्रोग्राम विंडो तक पहुंचने के लिए इंगित करने और क्लिक करने की अनुमति दी। 

 

विंडोज 2.0 (Windows 2.0)

विंडोज 2.0

विंडोज 1 की रिलीज के दो साल बाद, माइक्रोसॉफ्ट के विंडोज 2 ने दिसंबर 1987 में इसे बदल दिया। विंडोज 2 के लिए बड़ा इनोवेशन यह था कि विंडोज़ एक-दूसरे को ओवरलैप कर सकती थीं। विंडो 2.0 में आइकन, कीबोर्ड शॉर्टकट और बेहतर ग्राफिक्स शामिल हैं।

कण्ट्रोल पैनल , जहां विभिन्न सिस्टम सेटिंग्स और कॉन्फ़िगरेशन विकल्प एक साथ एक स्थान पर एकत्र किए गए थे, विंडोज 2 में पेश किए गए थे और आज तक उपयोग किए जा रहे हैं।


विंडोज़ 3 (Windows 3.0) 

विंडोज 3.0

विंडोज 3 को 1990 में लॉन्च किया गया था, जिसमें हार्ड ड्राइव की आवश्यकता होती थी एवं इसे अधिक व्यापक सफलता मिली। 

विंडोज़ 3 ने विंडोज़ में मल्टीटास्किंग को उपयोग किया एवं प्रोग्राम्स में 256 कलर को  सपोर्ट किया, जो इंटरफ़ेस के लिए अधिक आधुनिक, रूप प्रदान करता है।


विंडोज  3.1 (Windows 3.1)

विंडोज 3.1

विंडोज 3.1 1992 में जारी किया गया इसमें  बेहतर आइकन और प्रोग्राम मैनेजर का उपयोग किया गया। विंडोज 3.1 ट्रू- टाइप फोंट को पेश किया था जिससे विंडोज को डेस्कटॉप पब्लिशिंग में प्रयोग करना आसान हो गया ।

Windows 3.1 को चलाने के लिए 1MB RAM की आवश्यकता थी और पहली बार माउस के साथ MS-DOS प्रोग्राम को नियंत्रित करने की सुविधा दी। 3.1 सीडी-रॉम पर वितरित किया जाने वाला पहला विंडोज भी था।


विंडोज 95 (Windows 95)

विंडोज 95

विंडोज 95 अगस्त 1995 में आया था और इसके साथ पहली बार स्टार्ट बटन और स्टार्ट मेनू आया था। यह तेजी से चलता है और स्थापित हार्डवेयर (प्लग एंड प्ले) को स्वचालित रूप से हटाने और कॉन्फ़िगर करने की क्षमता रखता है।

विंडोज 98 (Windows 98)

विंडोज 98

जून 1998 में जारी, विंडोज 98 को विंडोज 95 पर बनाया गया और इसके साथ IE 4, आउटलुक एक्सप्रेस, विंडोज एड्रेस बुक, माइक्रोसॉफ्ट चैट और नेट शो प्लेयर लाया गया, जिसे 1999 में विंडोज 98 सेकंड एडिशन में विंडोज मीडिया प्लेयर 6.2 से बदल दिया गया।

इसमें नई तकनीक FAT32, AGP, MMX, USB, DVD के लिए सपोर्ट प्रदान करता है। यह एक सक्रिय डेस्कटॉप है जो वेब ब्राउज़र (इंटरनेट एक्सप्लोरर) को एकीकृत करता है।


विंडोज एमई  (Windows Me)

विंडोज ME

विंडोज मिलेनियम एडिशन MS-DOS पर आधारित और विंडोज 9x लाइन में आखिरी विंडोज था। मिलेनियम संस्करण सितंबर 2000 में लांच किया गया। इसमें मुख्य रूप से  स्वचालित सिस्टम रिकवरी टूल शामिल किया गया था।


विंडोज 2000 (Windows 2000 / 2K) 

विंडोज 2000

विंडोज 2000 को फरवरी 2000 में जारी किया गया था और यह माइक्रोसॉफ्ट के बिजनेस ओरिएंटेड सिस्टम विंडोज एनटी पर आधारित था और बाद में विंडोज एक्सपी के लिए आधार बन गया।


विंडोज एक्स पी (Windows XP)

विंडोज xp

संभवतः सर्वश्रेष्ठ विंडोज संस्करणों में से एक, विंडोज़ एक्सपी अक्टूबर 2001 में जारी किया गया था। विंडोज एक्सपी को इसके बेहतर लुक और फील के लिए जाना जाता है। इसके होम और प्रोफेशनल दो संस्करण हैं।

स्टार्ट मेनू और टास्क बार को नए तरीके से उपयोग किया गया जिसमें परिचित ग्रीन स्टार्ट बटन, ब्लू टास्क बार और वॉलपेपर के साथ ही विभिन्न ग्राफ़िक्स इफ़ेक्ट लाए गए।


विंडोज विस्टा (Windows Vista)

विंडोज विस्टा

जनवरी 2007 में विंडोज विस्टा द्वारा प्रतिस्थापित किए जाने से पहले विंडोज एक्सपी करीब छह साल तक रहा। विस्टा में ट्रांसपेरेंट एलेमेंट्स, सर्च सुविधा एवं सुरक्षा पर अधिक ध्यान देने के साथ विंडोज के रंगरूप को भी अद्यतन किया। 

विंडोज 7 (Windows 7)

विंडोज 7

विन्डोज़ विस्टा की कमियों को दूर करते हुए, विन्डोज़ 7 को पहली बार अक्टूबर 2009 में रिलीज़ किया गया था। विंडोज 7 में शामिल नई सुविधाओं में से कुछ टच, स्पीच एवं हैण्डराइटिंग रिकग्निशन के साथ साथ, वर्चुअल हार्ड डिस्क सपोर्ट, अतिरिक्त फ़ाइल एक्सटेंशन एवं मल्टी-कोर प्रोसेसर पर बेहतर परफॉरमेंस, फ़ास्ट बूटिंग हैं।

विंडोज 8 (Windows 8)

विंडोज 8.0

विंडोज 8 को अक्टूबर 2012 में जारी किया गया जो कि टच-फ्रेंडली स्टार्ट स्क्रीन के साथ उपलब्ध कराया गया लेकिन इसमें स्टार्ट बटन और स्टार्ट मेनू को हटा दिया गया था।

इसमें  नए टाइल वाले इंटरफ़ेस में प्रोग्राम आइकन और लाइव टाइलें देखी गईं, जो सामान्य रूप से "विगेट्स" से जुड़ी जानकारी को प्रदर्शित करती हैं। इसमें ट्रेडिशनल डेस्कटॉप के साथ मेट्रो एप्स को प्रदर्शित किया गया। टाइल्स-आधारित इंटरफ़ेस, या मेट्रो यूआई, विंडोज 8 में लॉग इन करते हुए सबसे पहले दिखाई देती है।  

विंडोज 8.1 (Windows 8.1)

विंडोज 8.1

विंडोज 8.1 को अक्टूबर 2013 में विंडोज 8 के लिए एक नि:शुल्क प्वाइंट रिलीज में उपलब्ध कराया गया। इसमें स्टार्ट मेनू को वापस लाया गया। लाइव टाइल्स जिसमें आपको ऐप पर क्लिक किए बिना भी जानकारी देखने देते हैं। इसके साथ ही सिक्यूरिटी के लिए डिफेंडर एवं नेटवर्किंग सुरक्षा को भी मजबूत किया गया। साथ ही इसमें एप स्टोर भी उपलब्ध कराया गया।

विंडोज 10 (Windows 10)

विंडोज 10

विंडोज 10 को 29 जुलाई 2015 को जारी किया गया है। विंडोज 10 में  कई नए एलिमेंट्स को पेश किया, जिसमें एक टच- इंटरफ़ेस (टैबलेट मोड), विंडोज 7 के समान एक पारंपरिक डेस्कटॉप इंटरफ़ेस का उपयोग किया गया है, जिसमें विंडोज 8 की तरह से लाइव टाइल्स भी शामिल हैं।

विंडोज 10 डिवाइसेस में एक यूनिवर्सल एक्सपीरियंस बनाने के लिए एक व्यापक ऐप प्लेटफॉर्म, एक सिक्योरिटी मॉडल दिया गया है। विंडोज 10 सभी डिवाइस चाहे वह पर्सनल डिवाइस / लैपटॉप, टच-स्क्रीन डिस्प्ले, विंडोज 10 सभी पर एक जैसा अनुभव प्रदान करता है।

विंडोज 10 में कोर्टाना सपोर्ट, माइक्रोसॉफ्ट एज  वेब ब्राउज़र, वर्चुअल डेस्कटॉप, यूनिवर्सल एप जैसे फीचर दिए गए हैं।



Tags - Windows Operating System. What is Windows OS? History of Windows? Version of Windows OS. Windows1.0, Windows2.0, Windows3.0, Windows3.1, Windows95, Windows98, WindowsME, Windows Vista, Windows XP, Windows7, Windows8, Windows8.1, Windows10. Explore Windows version. Windows Version List. 


 

||    Theory    ||    Practicals    ||    Video Tutorials    ||    Online Test Series   ||